Sale!

मिलकर कार्य करने के 17 कारगर नियम

450.00 49.00

इस पुस्तक में नेतृत्व विशेषज्ञ और न्यू यार्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग लेखक जान सी. मैक्सवेल मजबूत टीम बनाने के अत्यावश्‍यक सिद्धांत बताते हैं, जो आपके कारोबार, परिवार, चर्च या संगठन की सफलता के लिए आवश्‍यक हैं। चाहे आप कोच हों या खिलाड़ी, शिक्षक हों या विधार्थी, सीईओ या गैर-लाभकारी स्वयंसेवी, यह पुस्तक आपको शक्ति प्रदान करेगी और बताएगी कि एक सफल टीम कैसे बनाई जाती है।

Description

प्रस्तावना

१. महत्त्व का नियम
:- म्हणता हासिल करने के लिए एक बहुत छोटी संख्या है।

२. बड़ी तस्वीर का नियम
:- भूमिका से अभिक महत्वपूर्ण है लक्ष

३. खास तस्वीर का नियम
:- सभी खिलाड़ियों की एक खास जगह है , जहा वे सर्वाधिक योगदान देते है

४. माउन्ट एवरेस्ट का नियम
:- जब चुनौती बढ़ती है तो टीमवर्क की आवश्यकता भी बढ़ती है

५. जंजीर कनियम
:- टीम की शक्ति पर उसकी सबसे कमजोर कड़ी का असर होता है

६. उत्प्रेरक का नियम
:- विजेता टीमों में ऐसे खिलाडी होते है , जिनसे रहने से घटनाये होती है

७. कम्पास का नियम
:- भविष्य- दॄष्टि टीम के सदस्यों को दिशा और एटीएम विश्वास देती है

८. सड़े सेब का नियम
:- खराब नजरिये टीम को बर्बाद कर देते है

९. विश्वनीयता का नियम
:- महत्वपूर्ण दौर में टीम के साथियो एक दूसरे पर विश्वास होना चाहिए

१०. प्राइस टैग का नियम
:- जब कोई टीम कीमत नहीं चुकती है, तो वह अपनी क्षमता तक नहीं पहुंच पति है

११. स्कोरबोर्ड का नियम
:- टीम तालमेल तभी बैठ सकता है जब उसे पता हो की वह कहा खड़ी है

१२. बेंच का नियम
:- बेहतरीन टीमों में बेहतरीन गहराई होती है

१३. पहचान का नियम
:- साजो मूल्य टीम की पहचान है

१४. संवाद का नियम
:- संवाद को कार्य को ईंधन मिलता है

१५. बेहतर होने का नियम
:- नेतृत्व ही दो सामान गुणी टीमू के बिच का फर्क है

१६. उच्च मनोबल का नियम
:- जब आप जित रहे होते है तो किसी बात से चोट नहीं पहुँचती है

१७. डिविडेंट का नियम
:- टीम में निवेश करने से कई गुना लाभ होता है

उपसंहार

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “मिलकर कार्य करने के 17 कारगर नियम”

Your email address will not be published. Required fields are marked *